Dil bechara movie review in hindi रुला सकता है दिल बेचारा

Dil Bechara Movie Review in Hindi : आखिरकार सुशांत सिंह राजपूत की आखरी फिल्म दिल बेचारा को रिलीज़ कर ही दिया गया, ऐसे में सुशांत तो अब हमारे बिच नहीं रहे लेकिन उनका यह फिल्म दिल बेचारा सभी के दिलो पर अपना छाप छोर गया, “हमें जन्म कब लेना है और मरना कब है ये दोनों ही हम डिसाइड नहीं कर सकते, लेकिन हमें कैसे जीना है वो हम डिसाइड कर सकते हैं”  फिल्म का यह डायलॉग आपका दिल छू सकता है और कही न कही पूरी फिल्म इसी डायलॉग के ऊपर आधारित देखनो को मिलेगा, क्या है फिल्म की कहानी और कैसी है ये सुशांत की दिल बेचारा आपको बताते है इस रिव्यु के अन्दर।

Dil Bechara cast

दिल बेचारा फिल्म को डायरेक्ट किया है मुकेश छाबरा ने  और इस फिल्म में आपको मुख कास्ट में आपको सुशांत सिंह राजपूत, संजना संघी, साहिल वैद, सस्वाता चटर्जी , स्वस्तिका मुखर्जी , सुनीत टंडन और सैफ अली खान  आपको मुख्य किरदार में आपको  देखने को मिलेगा

Sushant Singh Rajputसुशांत सिंह राजपूतइमैन्युल राजकुमार जूनियर उर्फ मैनी
Sanjana Sanghiसंजना संघीकिजी  बासु
Sahil Vaidसाहिल वैदजगदीश पाण्डेय उर्फ़ जे पि
Saswata Chatterjeeसस्वाता चटर्जीमिस्टर बासु
Swastika Mukherjeeस्वस्तिका मुखर्जीमिसेस बासु
Sunit Tandonसुनीत टंडनडॉक्टर झा
Saif Ali Khanसैफ अली खानअभिमन्यु वीर
Michael Muthuमाइकल मुथुमैनी का पिता
Rajie Vijay Sarathiराजी विजय सारथीमैनी की माँ
Subbalakshmiसुब्बलक्ष्मीमैनी की नानी

दिल बेचारा की कहानी

“एक था राजा एक थी रानी दोनों मर गए ख़तम कहानी” लेकन इस फिल्म के कहानी में ऐसा नहीं है, राजा के मरने के बाद भी कहानी जारी है। और यह फिल्म दिल बेचारा उसी कहानी को दिखता है। दिल बेचारा दो कैंसर से पिरित कपल्स किजि और मैनी की कहानी है जो एक-दूसरे से बेहद प्यार करते है और और दोनों  ही अपना पूरी जिंदिगी साथ-साथ बिताना चाहते है  कहानी की सुरुवात होता है

एक फ्यूनरल से जहाँ पर किजि बासु किसी के अंतिम यात्रा में सोख मन रही होती है, वह अक्सर अनजान आदमी के फ्यूनरल में सामिल होकर उनका वह दुःख बाँटा करती थी, किजि स्वाभाव से शांत और जिन्दगी से हार चुकी लड़की रहती है, तभी कहानी में नया मोड़ आता है और किजि का मुलाकात हो जाता है कहानी के हीरो इमैन्युल राजकुमार जूनियर उर्फ मैनी से, उसके बाद किजि का लाइफ ही बदल जाता है।

dil bechara review in hindi 2
Dil Bechara Movie Review in Hindi

जहा किजि शांत स्वाभाव की थी वही पर मैनी चंचल, हँसमुख और काफी खुसिया मिजाज का लड़का रहता है, धीरे धीरे किजि और मैनी इक दुसरे के करीब आ जाते है, किजि को बोरिंग लाइफ अब शानदार लगने लगता है, अब  वह जीना चाहती है लेकिन जैसा की आप सभी जानते है की कैंसर को हँसी और ख़ुशी दोनों से नफरत है। किजि फिर से काफी ज्यादा बीमार हो जाती है और उसे अस्पताल ले जाया जाता है।  तबतक मेनी को भी पता चल चूका था किजि काफी बीमार वह भी अस्पताल पहुचता है लेकिन वहां किजि मैनी से नहीं मिलना चाहती है, किजि को लगता है प्यार जैसा चीज़ उसके लिए नहीं बना है।

dil bechara review
dil bechara review

कहानी आगे बढती है और किजि को कुछ दिन में अहसास होता है की वह मैनी के बिना नहीं रह सकती है, फिर दोनों एक – दुसरे के काफी नजदीक आ जाते है, धीरे- धीरे किजि और मैनी को एक-दुसरे के आखरी ड्रीम को बारे में  पता चलता है।  जहा पर किजि एक गाने की दीवानी रहती है, लेकिन वह गाना आधा ही रहता है, और किजि उस गाने के सिंगर से मिलकर उस गाने को पूरा करना चाहती है, उही पर मैनी और उसका दोस्त जगदीश पाण्डेय उर्फ़ जे पि  का सपना रहता है की वह एक दिन खुद का फिल्म बनाये ऐसे में दोनों ही एक दुसरे की सपना पूरा करने में लग जाते है।

dil bechara
dil bechara

अब यहाँ पर कहानी ने एक नया मोड़ ले लिया है, अभिमन्यु वीर जो गाने का सिंगर है, उसने किजि को पेरिस आना का आमंत्रण देता है, और फिर किजि काफी मुश्किल  के बाद अपने माता पिता को मना कर पेरिस चली जाती है, लेकिन पेरिश पहुचने के बाद कहानी ही कुछ अलग होता है, अभिमन्यु वीर  एक घमंडी और शराबी आदमी रहता है और वहां पर किजि को सिर्फ निराशा मिलता है लेकिन किजि और मैनी ने  पेरिश में एक – दुसरे  के साथ शानदार पल बिताते है

उसी बिच मैनी के तबियत अचानक काफी ख़राब हो जाता है, और मैनी का जो सपना था फिल्म बनाने का वह भी अधुरा दीखता नज़र आता है, लेकिन किजि , जगदीश पाण्डेय  और मैनी ने मिलकर फिल्म को पूरा  किया, लेकिन  फिल्म को लांच करने से पहले ही  मैनी इस दुनिया को  छोर कर जा चूका था. आगे क्या होता फिल्म में इसके लिए आपको दिल बेचारा फिल्म को देखना परेगा

दिल बेचारा की खास बाते

फिल्म दी फाल्ट इन आवर स्टार नावेल से लिया गया है और ऐसे में हॉलीवुड में पहले ही इस फिल्म को रिलीज़ कर दिया है, दी फाल्ट इन आवर स्टार के नाम से लेकिन मुकेश छाबरा ने इस फिल्म को बॉलीवुड स्टाइल में दिल बेचारा का तड़का लगा दिया है।

dil bechara review in hindi
Dil Bechara Movie Review in Hindi

दिल बेचारा में आपको सुशांत और संजना सांघी का जोड़ी जबरदस्त देखने को मिलेगा,  फिल्म की लव स्टोरी आपका जरूर एक बार दिल छु लेगा. वही में फिल्म में आपको सुशांत की अदाकारी देखने लायक है, फिल्म में आपको कही भी ओवर एक्टिंग नहीं देखने को मिलता है।

वहीं संजना संघी के लिए बतौर लीड एक्टर यह पहली फ़िल्म है। वह काफी क्यूट और अपने किरदार में जमती भी हैं। स्वास्तिका मुखर्जी ने कीज़ी का मां का किरदार बड़े ही शानदार तरीके से निभाया है फिल्म में दिखाया गया मैनी का फ्यूनरल आपको रूला सकता है।

फ़िल्म का संगीत भी काफी मधुर और दिल छूने वाला  है। ए आर रहमान का जादू आपको साफ़ देखने को मिलता है। वहीं, बैंकग्राउंड में बजने वाला अधूरा गाना आपको  पूरा फील देता है।

1 thought on “Dil bechara movie review in hindi रुला सकता है दिल बेचारा”

  1. Pingback: Malang movie review कैसा है मलंग मूवी | Film Panti....

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top